छात्र-विर्य, ब्रह्मतेज, मूर्तिमान स्वामी विवेकानन्द आये हैं आज...
Please visit Swami Vivekananda's sayings in English

Friday, May 01, 2015

स्वामी विवेकानन्द जी के भाषण

सम्माननीय बन्धुवर नमस्कार,
स्वामी विवेकानन्द जी के शिकागो भाषण, जिसे सुन कर सारा विश्व उन्हे विश्व धर्म महासम्मेलनीके विजेता माने बिना रह न सके और उन्के भाषणों को सुनने के लिये अनन्त प्रयास करनेलगे। हम भारतिय, जो ऐसे ही वीर, साहसी, विजयी महापुरुष, ऋषि मनिषियोंके वंशज हैं, यहहमारा अधिकार बनता है, कि हम अपने पूर्वजों को जाने और उन्हे अनुसरण करें। मैनें स्वामीविवेकानन्द जी के शिकागो भाषणों को जो की ओडियो फाईल है, उन्हे अपलोड कर दिया है। मेराआप सभी से यह निवेदन है कृपया इन्हे डाउनलोड करें और सुने। 

मैने कई ऐसे वेबसाईट देखें हैं, जो ऐसा दावा करते है कि, उनके पास स्वामी जी के अपने आवाज में दिये गये भाषणों का ओडियो फाईल हैं। पर बन्धु गण, मैं यह आपलोगों को बताना चाहता हूँ कि, स्वामी जी का शिकागो भाषण १८९३ में हुआ था, और उस समय आवाज को कैद करने की तकनिक थी, परन्तु किसी ने भी स्वामी जी के भाषणो को कैद नहिं किया था। यह जो फाईल मैंने अपलोड कि है, यह व्यपार के उद्देश्य के लिये नही हैं, इसकी कोई कॉपीराईट भी मेरे पास नहीं है। यह मात्र स्वामी जी के सन्देश के प्रसार प्रत्येक युवा, युवति तथा विद्यार्थियों में करने का मेरा एक मात्र प्रयास है। इसमे जो आवाज है, वह स्वामी जी की अपनी आवाज नहीं है, वह तो एक युवक की है, जो स्वामी जी के ओजस्वि भाषणों और उन्की कार्य से प्रेरित हो कर इस कार्य को किया है। तो कृपया किसी प्रकार का सन्देह मन में न रखें और मात्र इसे स्वामी जी का सन्देश जान कर सुने और अपने दोस्तो, परिवार तथा अन्य सम्बन्धियों तथा परिचित गण में विस्तार करें। मेरी आप सब से यही अनुरोध है, धन्यवाद ।



सूचना: यदि आपको किसी भी प्रकार की असुविधा होरही हो तो कृपया सुचित करें।

2 Comments:

Blogger nk bairwa said...

Thank you sir ji.. i appreciate your work.

7:08 PM  
Blogger रुपेश कुमार तिवारी said...

You are welcome bhai...

7:41 PM  

Post a Comment

<< Home